–>

family the ties of blood full movie | फैमिली मूवी 2006 | akshay kumar movies

 




about family the ties of blood full movie

Directed byRajkumar Santoshi
Written byTigmanshu Dhulia
Rajkumar Santoshi
Screenplay byRajat Arora
Shridhar Raghavan
Story byShaktimaan Talwar
Ashok Raut
Produced byKeshu Ramsay
StarringAmitabh Bachchan
Akshay Kumar
Bhumika Chawla
CinematographyAshok Mehta
Edited byShyam Salgonkar
Music byRam Sampath
Production
company
Amitabh Bachchan Corporation
Distributed byBIG Pictures
Release date
  • 13 January 2006
Running time
154 minutes
CountryIndia
LanguageHindi


family the ties of blood full movie Cast (in credits order)  

Amitabh Bachchan | family amitabh bachchan full movie 2006 download | family full movie amitabh bachchan 2006 watch online free | family amitabh bachchan full movie 2006 download | फॅमिली २००६ मूवी | akshaykumarmoviesAmitabh Bachchan...Virendra 'Viren' Sahi
Akshay Kumar | family amitabh bachchan full movie 2006 download | family full movie amitabh bachchan 2006 watch online free | family amitabh bachchan full movie 2006 download | फॅमिली २००६ मूवी | akshaykumarmoviesAkshay Kumar...Shekhar K. Bhatia
Bhoomika Chawla | family amitabh bachchan full movie 2006 download | family full movie amitabh bachchan 2006 watch online free | family amitabh bachchan full movie 2006 download | फॅमिली २००६ मूवी | akshaykumarmoviesBhoomika Chawla...Dr. Kavita S. Bhatia (as Bhumika Chawla)
Aryeman Ramsay | family amitabh bachchan full movie 2006 download | family full movie amitabh bachchan 2006 watch online free | family amitabh bachchan full movie 2006 download | फॅमिली २००६ मूवी | akshaykumarmoviesAryeman Ramsay...Aryan K. Bhatia (as Aryeman)
Sushant Singh | family amitabh bachchan full movie 2006 download | family full movie amitabh bachchan 2006 watch online free | family amitabh bachchan full movie 2006 download | फॅमिली २००६ मूवी | akshaykumarmoviesSushant Singh...Abhir V. Sahi
Nandini | family amitabh bachchan full movie 2006 download | family full movie amitabh bachchan 2006 watch online free | family amitabh bachchan full movie 2006 download | फॅमिली २००६ मूवी | akshaykumarmoviesNandini...Virendra's daughter
Suchhi Kumar | family amitabh bachchan full movie 2006 download | family full movie amitabh bachchan 2006 watch online free | family amitabh bachchan full movie 2006 download | फॅमिली २००६ मूवी | akshaykumarmoviesSuchhi Kumar...Patil
Anjan Srivastav | family amitabh bachchan full movie 2006 download | family full movie amitabh bachchan 2006 watch online free | family amitabh bachchan full movie 2006 download | फॅमिली २००६ मूवी | akshaykumarmoviesAnjan Srivastav...Kishore Bhatia (as Aanjjan Srivastav)
Bharti Achrekar | family amitabh bachchan full movie 2006 download | family full movie amitabh bachchan 2006 watch online free | family amitabh bachchan full movie 2006 download | फॅमिली २००६ मूवी | akshaykumarmoviesBharti Achrekar...Vimla K. Bhatia
Shernaz Patel | family amitabh bachchan full movie 2006 download | family full movie amitabh bachchan 2006 watch online free | family amitabh bachchan full movie 2006 download | फॅमिली २००६ मूवी | akshaykumarmoviesShernaz Patel...Sharda V. Sahi (as Shenaz Patel)
Rujuta Deshmukh | family amitabh bachchan full movie 2006 download | family full movie amitabh bachchan 2006 watch online free | family amitabh bachchan full movie 2006 download | फॅमिली २००६ मूवी | akshaykumarmoviesRujuta Deshmukh...Abhir's wife
Ali Haji | family amitabh bachchan full movie 2006 download | family full movie amitabh bachchan 2006 watch online free | family amitabh bachchan full movie 2006 download | फॅमिली २००६ मूवी | akshaykumarmoviesAli Haji...Abhir's son (as Master Ali Haji)
Sunil Grover | family amitabh bachchan full movie 2006 download | family full movie amitabh bachchan 2006 watch online free | family amitabh bachchan full movie 2006 download | फॅमिली २००६ मूवी | akshaykumarmoviesSunil Grover
Nawazuddin Siddiqui | family amitabh bachchan full movie 2006 download | family full movie amitabh bachchan 2006 watch online free | family amitabh bachchan full movie 2006 download | फॅमिली २००६ मूवी | akshaykumarmoviesNawazuddin Siddiqui...(as Novaz)
Vivek Madan | family amitabh bachchan full movie 2006 download | family full movie amitabh bachchan 2006 watch online free | family amitabh bachchan full movie 2006 download | फॅमिली २००६ मूवी | akshaykumarmoviesVivek Madan...Vicky
Arjun Raj Nirula | family amitabh bachchan full movie 2006 download | family full movie amitabh bachchan 2006 watch online free | family amitabh bachchan full movie 2006 download | फॅमिली २००६ मूवी | akshaykumarmoviesArjun Raj Nirula
Kader Khan | family amitabh bachchan full movie 2006 download | family full movie amitabh bachchan 2006 watch online free | family amitabh bachchan full movie 2006 download | फॅमिली २००६ मूवी | akshaykumarmoviesKader Khan...Kalim Khan
Raza Murad | family amitabh bachchan full movie 2006 download | family full movie amitabh bachchan 2006 watch online free | family amitabh bachchan full movie 2006 download | फॅमिली २००६ मूवी | akshaykumarmoviesRaza Murad...Syed
Gulshan Grover | family amitabh bachchan full movie 2006 download | family full movie amitabh bachchan 2006 watch online free | family amitabh bachchan full movie 2006 download | फॅमिली २००६ मूवी | akshaykumarmoviesGulshan Grover...Babubhai 'Bichhoo'
Viju Khote | family amitabh bachchan full movie 2006 download | family full movie amitabh bachchan 2006 watch online free | family amitabh bachchan full movie 2006 download | फॅमिली २००६ मूवी | akshaykumarmoviesViju Khote...Hyder 'Chacha'
Kamlesh Sawant | family amitabh bachchan full movie 2006 download | family full movie amitabh bachchan 2006 watch online free | family amitabh bachchan full movie 2006 download | फॅमिली २००६ मूवी | akshaykumarmoviesKamlesh Sawant
Prasanna Ketkar | family amitabh bachchan full movie 2006 download | family full movie amitabh bachchan 2006 watch online free | family amitabh bachchan full movie 2006 download | फॅमिली २००६ मूवी | akshaykumarmoviesPrasanna Ketkar

Produced by 

Kulthep Narula...line producer: Thailand
Rachvin Narula...line producer: Thailand
Keshu Ramsay...producer (as Keshu)

Music by 

Ram Sampath

Cinematography by 

Ashok Mehta...director of photography

Film Editing by 

Shyam Salgaonkar
Shyam K. Salgonkar...(as Shyam [sally] Salgocar)

Production Design by 

Kamlesh Kumar

Art Direction by 

Nitish Roy

Costume Design by 

Firoze Shakir...(as Feroz Shakir)
Anna Singh

Makeup Department 

Dilip Naik...makeup artist: Aryeman (as Dilip Nayak)
Mukesh Nayak...makeup artist
Deepak Sawant...makeup artist: Amitabh Bachchan
Ashok Singh...makeup artist: Bhumika
Narendra Singh...makeup artist: Akshay Kumar

Production Management 

Shiva Bava...outdoor production manager: Goa (as Shiva)
Deepak Kumar Chaudhary...set production manager (as Deepak Kumar Choudhury)
Vinay Jain...production manager
Jai Kumar...outdoor production manager: Jaipur
Gautam Rai...assistant production manager (as Gavtam Rai)
B.L. Sharma...outdoor production manager
Vicky Sharma...assistant production manager
Vikrant Sharma...production manager
Raju Yadav...assistant production manager

Second Unit Director or Assistant Director 

Anoop Bindal...assistant director
Vijay Chhabra...assistant director
Rakesh Jha...assistant director
Arjun Raj Nirula...chief assistant director
Vishal Pasrija...assistant director
Dharam Prakash...special assistant director
Vikram Sharmaa...assistant director (as Vikram Sharma)
Amit Verma...first assistant director

Art Department 

Ganesh Nishad...assistant art director
Vishnu Nishad...chief assistant art director
Udai Prakash Singh...assistant art director (as Uday Prakash Singh)

Sound Department 

Leslie Fernandes...mixing engineer (as Leslie Maggie Fernandes)
Jayant Haldar...assistant mixing engineer
Kiran Ramsay...sound designer
Navin Shah...associate sound recordist
Harjeet Singh...sound effects editor

Visual Effects by 

Vinay Singh Chuphal...visual effects artist
P. Mohan...digital compositor
Rajiv Raghunathan...senior digital intermediate producer
Prasad Sutar...visual effects supervisor
Jayadev Tiruveaipati...scanning artist

Stunts 

Peter Hein...action coordinator
Abbas Ali Moghul...action coordinator
Rajesh Ayyar...dressman assistant
Siddharth Gawande...dressman assistant
Sandeep Mahajan...dressman
Iqbal Mistry...dressman assistant (as Iqbal Mistri)

Editorial Department 

Putter Raju Gowda...assistant editor (as Deepak Gowda)
Rajesh Khanchi...associate editor
Ken Metzker...digital intermediate colorist
Vicky Sharma...assistant negative cutter (as Vicky)
Amit Shetty...negative cutter
Tushar Shinde...assistant negative cutter (as Tushaar)
S. Raghunath Varma...Senior Conformist (as Varma Raghunath)
Jespal Nadar...digital intermediate line producer (uncredited)

Story Of family the ties of blood full movie

फैमिली मूवी 2006  में बैंकॉक में स्थित एक अंडरवर्ल्ड डॉन वीरेन सहाय का भारत में एक बिगड़ैल बेटा अभिर है। जब वीरेन का प्रतिद्वंद्वी खान अभिर पर हमला करता है, तो वीरेन बदला लेना चाहता है।

 उसे पूरी जानकारी मिलती है कि खान और उसका भतीजा किसी खास तारीख को एक स्थानीय सिनेमाघर में मौजूद रहेंगे और वह उन दोनों को मारने के लिए भारत के लिए निकल पड़ता है।

कहानी फिर वर्तमान में एक साधारण रसोइया शेखर भाटिया के जीवन पर चलती है, जिसकी शादी डॉ कविता से हुई है। फैमिली मूवी 2006  में  शेखर अपने माता-पिता, पत्नी और छोटे भाई आर्यन के साथ रहता है। आर्यन एक दिन घर से भाग जाता है, और शेखर उसे खोजने के लिए पूरे शहर में खोजबीन करता है। 

अपनी खोज के दौरान, वह वीरेन को सिनेमा थिएटर पर हमला करते हुए देखता है जिसमें खान छिपा हुआ है, जिससे भगदड़ मच जाती है और सिनेमा में निर्दोष लोगों की मदद करने का फैसला करता है। मासूम की मदद करते हुए, शेखर खान के भतीजे को गंभीर रूप से घायल पाता है और उसे बचाने की कोशिश करता है। 

फैमिली मूवी 2006  में वीरेन यह देखता है और गलती से शेखर को खान के भतीजे के बजाय शेखर को खान का आदमी समझकर गोली मार देता है। जल्द ही, वीरेन खान के भतीजे की बेरहमी से हत्या कर देता है और थिएटर से भाग जाता है।

 घायल शेखर की मौत। आर्यन घर लौटता है और उसे पता चलता है कि शेखर की हत्या कर दी गई थी जब वह उसकी तलाश में निकला था।

क्रोधित और हैरान आर्यन और उसके दोस्तों का समूह एक गिरोह बनाता है और वीरेन को उनके पास लाने और न्याय मांगने के विचार से अभिर सहित वीरेन के पूरे परिवार का अपहरण कर लेता है।

 वीरेन ने यह पता लगाने में कोई कसर नहीं छोड़ी कि ऐसा करने की हिम्मत किसने की। फैमिली मूवी  2006 में हर बार जब वह गिरोह पर ध्यान देता है, तो वे बंधकों के साथ भागने में सफल हो जाते हैं। हालांकि, अभिर भाग जाता है और अपने पिता के पास पहुंचता है।

आर्यन वीरेन के परिवार के किसी भी सदस्य को नुकसान नहीं पहुंचाने की कोशिश करता है क्योंकि वह जानता है कि एक परिवार कितना कीमती है। फैमिली मूवी 2006  में  हालांकि, वीरेन की पत्नी की अचानक मृत्यु हो जाती है जब अभिर अपने परिवार को अपने गिरोह के साथ ठीक करने के लिए वापस आता है, और आर्यन को निशाना बनाते हुए गलती से उसे गोली मार देता है। 

वीरेन का मानना ​​है कि इसके लिए आर्यन जिम्मेदार है। आर्यन वीरेन को उससे मिलने के लिए उसी जगह बुलाता है जहां वीरेन ने शेखर को पुलिस के साथ मारा था। फैमिली मूवी 2006  में  लेकिन पुलिस वीरेन की मदद करने का फैसला करती है; इस प्रकार, आर्यन की योजना विफल हो जाती है। आर्यन और उसके दोस्तों को हिरासत में ले लिया गया है।

अपनी बेटी द्वारा लगातार मिन्नत करने के बाद, एक बदला हुआ वीरेन यह सब खत्म करने का फैसला करता है और पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर देता है। 

फैमिली मूवी 2006  में  अपनी पत्नी का अंतिम संस्कार करने के बाद, वह उन्हें आर्यन और उसके दोस्तों को रिहा करने के लिए भी कहता है, लेकिन बाद वाले इतने गुस्से में हैं कि वे वीरेन को मारने के लिए निकल पड़े। 

इस बीच, वीरेन अपने जीवन के सदमे में है, जब भ्रष्ट पुलिस उसके अपने बेटे अभिर के इशारे पर एक मुठभेड़ में उसे मारने के इरादे से सामने आती है, जो जाहिर तौर पर अब खान के साथ मिल गया है। 

वीरेन, आर्यन और गैंगस्टरों के बीच एक तीव्र बंदूक लड़ाई होती है, जहां वीरेन भ्रष्ट पुलिस, खान, सैयद और बाबूभाई को मार देता है। फैमिली मूवी 2006 में अभि अपने पिता को गोली मारने की कोशिश करता है, लेकिन वीरेन अभिर को मार देता है। 

वीरेन मांग करता है कि आर्यन उसे अभी मार डाले, लेकिन आर्यन उससे कहता है कि वीरेन की सजा मौत नहीं है। बल्कि यह जीवन ही है, क्योंकि वीरेन के पास जीने के लिए कुछ नहीं बचा है। 

वह बस अपनी बंदूक फेंकता है और दूर चला जाता है, अब जाहिरा तौर पर पागल वीरेन देख रहा है और बड़बड़ा रहा है। फिल्म कर्म के एक नोट पर समाप्त होती है, और आर्यन, अपने दोस्तों के साथ, अब शेखर की कैंटीन का प्रबंधन कर रहा है।

आलसी आर्यन भाटिया का जीवन उल्टा हो जाता है जब उसके भाई शेखर को एक बदमाश वीरेंद्र साही द्वारा मार दिया जाता है। 

फैमिली मूवी 2006  में  भ्रष्ट मुंबई पुलिस को उसे पकड़ने में असमर्थ, वह पूरे शाही परिवार का अपहरण करने का फैसला करता है, जब तक वीरेंद्र उसके सामने आत्मसमर्पण नहीं कर देता, तब तक उन्हें बंधक बनाकर रखता है। वह और उसके छह दोस्त आग्नेयास्त्र प्राप्त करते हैं, साही परिवार का सफलतापूर्वक अपहरण करते हैं, उन्हें एक कमरे में रखते हैं।

 यहां तक कि वे वीरेंद्र को 24 घंटे के भीतर उनकी रिहाई के लिए बातचीत करने के लिए कहते हैं। लेकिन आर्यन 'सड़क' से 'संसद' तक कथित तौर पर वीरेंद्र के संबंधों को कम करके आंकता है। फैमिली मूवी 2006  में  जल्द ही, न केवल उसे, उसके दोस्तों और उसके परिवार के बाकी लोगों को वीरेंद्र के क्रोध का सामना करना पड़ेगा।

अधिकांश कलाकारों द्वारा सबसे खराब अभिनय के साथ परिवार एक खराब फिल्म है, आर्यमैन फिल्म के हमेशा गलत कर्ता, अक्षय कुमार जो अपने सभी तथाकथित अभिनय कौशल भूल गए हैं, भूमिका चावला जो हमेशा की तरह खराब है। 

एकमात्र अभिनेता जो अभिनय कर सकता था, वह अमिताभ बच्चन थे, जो अपने अरबों प्रशंसकों की तरह, अमिताभ नाम के महानायक के लिए ही इस भद्दी फिल्म को देखते थे।

फैमिली मूवी 2006  में बहुत ज्यादा हिंसा है, यह बच्चों के लिए नहीं है। खलनायक के रूप में अमिताभ शानदार ढंग से खेलते हैं, उनका अहंकार, शैली और संवाद पिच के अंधेरे के बीच एक प्रकाशस्तंभ की तरह टॉवर करते हैं। कोई आश्चर्य नहीं कि वह विश्व सिनेमा के सबसे सर्वोच्च अभिनेता हैं। 

विरुद्ध के साथ इस गुस्से में बूढ़े आदमी की भूमिका के विपरीत, जहां वह एक बहुत ही नम्र बूढ़े व्यक्ति की भूमिका निभाता है और आपको पता चल जाएगा कि अमिताभ क्या हैं। कम से कम कहने के लिए अभूतपूर्व। अमिताभ का कादर खान के सिर पर पानी से भरा जग डालना सबसे अच्छा दृश्य है।

परिवार के पास पंच नहीं है, पटकथा घटिया है, कादर खान और रजा मुराद बर्बाद हो गए हैं। फिल्म बहुत बुरी तरह से निर्देशित है और किसी को यह महसूस होता है कि राजकुमार संतोषी ने इस फिल्म को नींद में निर्देशित किया होगा। 

फैमिली मूवी 2006 में आप विश्वास नहीं कर सकते कि उन्होंने ही दामिनी को एक यथार्थवादी और कठिन हिट फिल्म का निर्देशन किया था। हर अभिनेता अक्षय कुमार की तरह भाग्यशाली नहीं होता है, उनके ससुर राजेश खन्ना होते हैं, जो अभिनेता अमिताभ के समान अच्छे होते हैं, लेकिन ऐसा लगता है कि अक्षय ने अपने महान राजेश खन्ना से कुछ नहीं सीखा है। 

अक्षय एक बहुत ही गरीब हीरो है जो सिर्फ एक्टिंग या इमोशन नहीं कर सकता। सबसे खराब भूमिका निभाई गई थी भेंगा आंख आर्यमैन जो अपनी आंखें भी पूरी तरह से नहीं खोल सकता।

बहुत अधिक समीक्षाएं नहीं हैं, इसलिए मैंने सोचा कि मैं एक जोड़ूंगा।अन्य समीक्षाओं पर ध्यान न दें! यह एक बेहतरीन फिल्म थी।आरकेएस उन बहुत कम भारतीय निर्देशकों में से एक है जो वास्तव में एक अच्छी फिल्म बना सकते हैं।

एबी और अक्षय ने शानदार अभिनय का एक और उदाहरण दिया, जैसा कि भूमिका ने भी किया, जो थोड़ा अप्रत्याशित था, लेकिन देखने में बहुत अच्छा था।मैं हैरान हूं कि रिलीज को लेकर ज्यादा प्रचार नहीं हुआ है। फैमिली मूवी 2006  में  या फिल्मफेयर/अन्य पुरस्कार नामांकन, यह देखते हुए कि फिल्म कितनी अच्छी थीखाकी से बेहतर मैंने सोचा और मुझे लगा कि खाकी भी अच्छी फिल्म है।

काफी लंबी फिल्म है, लेकिन निश्चित रूप से इसके लायक है और इसे देखते समय निश्चित रूप से लंबी लगती है।आरकेएस की अगली फिल्म और अगली एबी, अक्षय फिल्म के लिए इंतजार नहीं कर सकता, वे हमेशा एक साथ अच्छा प्रदर्शन करते हैं... उदा। वक्त

भूमिका ने भी फिल्म में वास्तव में अच्छा अभिनय किया है और अगर भविष्य में भी वह इसी तरह जारी रहती है तो उसे वास्तव में अच्छा करना चाहिए।

फैमिली मूवी 2006  में  हालांकि इसकी प्रतिशोध की पुरानी कहानी है लेकिन इसे पूरी तरह से अलग तरीके से रखा गया है !! हो सकता है कि यह आपको 70 के गुस्से वाले युवक का बदला लेने की याद दिलाए लेकिन इस बार बदला अधिक व्यवस्थित और तर्कसंगत है (अर्थात एक भी आदमी पूरी व्यवस्था से अकेले नहीं लड़ रहा है)। 

सबसे अच्छी चीज जो मुझे पसंद आई वह थी संगीत (कोल्ड ब्लडेड वन) और स्क्रीन प्ले (श्रीधर राघवन को सलाम) एरीमैन रामसे ने पूरी तरह से भूमिका को सही ठहराया। लेकिन अमिताभ असली कैच थे !! उसके बारे में सब कुछ असाधारण था। 

वह पूरी तरह से गॉडफादर के जूते में फिट बैठता है चाहे वह उसके स्टाइलिश परिधान या संवाद के बारे में हो। विशेष रूप से अंत में जब वह बात करता है कि वह कैसे अपराधी बन गया और पुलिसकर्मी के साथ सब कुछ देखना बहुत अच्छा है। 

फैमिली मूवी 2006  में अंत थोड़ा हिंसक और अतिरंजित था लेकिन फिर भी यह अमिताभ के लुक और पिछले 30 मिनट में अभिनय से छाया हुआ था।

हमेशा सोचा जाने वाला राज कुमार संतोषी अतीत में पचने में थोड़ा भारी था (हालाँकि यह भी उसी श्रेणी में आता है, इसलिए 7 रेटिंग), लेकिन सिनेमैटोग्राफी, स्क्रीनप्ले, संगीत और संवाद इसे 7 तक पहुँचाने के लिए वास्तव में अच्छे थे। 

मुझे हमेशा आश्चर्य होता है कि ऐसी फिल्में क्यों थिएटर के लिए पर्याप्त दर्शक नहीं मिलते हैं और अन्य प्रचारित फिल्में यह सब लेती हैं। भारतीय सिनेमा को अपनी मानसिकता बदलने की जरूरत है क्योंकि सामान्य से परे उनकी हमेशा उत्कृष्टता होती है !!

परिवार अमेरिकी फिल्मों से विचारों को निकालने और उन्हें कुछ विशिष्ट भारतीय में बदलने की बॉलीवुड की क्षमता का एक बेहद मनोरंजक उदाहरण है। फिल्म चतुराई से अमेरिकी एक्शन ब्लॉकबस्टर से तत्वों को निकालती है और विशेष रूप से उन्हें कॉमेडी, रोमांस और संगीत के साथ जोड़ती है जो आमतौर पर बॉलीवुड से जुड़ी होती है।

फैमिली मूवी 2006  में दो अलग-अलग परिवारों के जीवन का अनुसरण करती है और उन दुखद परिणामों की जांच करती है जो गलती से आपस में जुड़ जाते हैं। इस तथ्य के बावजूद कि फिल्म में हत्या, अपहरण और कई अन्य त्रासदियों को शामिल किया गया है, यह किसी तरह उल्लेखनीय रूप से उत्साहित रहने का प्रबंधन करता है।

फिल्म का असली आकर्षण कलाकार है। मैंने हमेशा सोचा है कि अमिताभ बच्चन अल पचीनो से मिलते जुलते हैं और क्रूर गैंगस्टर वीरेन साही के रूप में, उन्हें अपना सर्वश्रेष्ठ पचिनो प्रभाव करने का अवसर मिलता है। मिस्टर बच्चन एक बहुत ही प्रफुल्लित करने वाला गैंगस्टर बनाते हैं,

 जो अपने बालों में गोरे हाइलाइट्स और सूट के एक संग्रह के साथ अस्पष्ट रूप से हास्यास्पद लग रहा है, जो लिबरेस को अश्लील लगेगा। फैमिली मूवी 2006 में  हालांकि एक्शन दृश्यों के दौरान वह विशेष रूप से आश्वस्त नहीं हो सकते हैं, अमिताभ बच्चन अधिक नाटकीय क्षणों के दौरान अपने आप में आ जाते हैं और फिर से साबित करते हैं कि वह आज भारत में काम करने वाले सबसे मनोरंजक अभिनेता हैं।

सर्वव्यापी अश्के कुमार शेखर, वीरेन साही के ध्रुवीय विपरीत की भूमिका निभाते हैं। अगर अमिताभ बच्चन भारतीय अल पचीनो हैं, तो अश्के कुमार डेविड हैसलहॉफ का बॉलीवुड संस्करण है - 

फैमिली मूवी 2006  में एक गायन और नृत्य मनोरंजन ट्रेन मलबे। जिस दृश्य में अश्के एक मंदिर के शीर्ष पर एक हिप हॉप नंबर (ब्लिंग डायमांटे धूप के चश्मे के साथ पूरा) करते हैं, उस पर विश्वास किया जाना चाहिए। आर्यमैन ने शेखर के भाई आर्यन के रूप में डेब्यू किया। यह देखना अच्छा है कि भारत में भाई-भतीजावाद जिंदा है और ठीक है क्योंकि आर्यमन भी निर्माता के बेटे हैं। 

हैरानी की बात है कि आर्यमन अप्रत्याशित रूप से एक अच्छा अभिनेता है और फिल्म की सबसे अधिक मांग वाली भूमिका में आश्वस्त होने का प्रबंधन करता है।

शानदार संगीत खंडों के अलावा, जो उपर्युक्त मंदिर से लेकर साइबरस्पेस में एक पोर्न साइट तक हर जगह होते हैं, परिवार में कई यादगार लड़ाई दृश्य और अच्छी तरह से निर्मित कार का पीछा भी शामिल है।

एक दृश्य जिसमें आर्यन एक कांच की खिड़की से झूलने से पहले एक गगनचुंबी इमारत से नीचे उतरता है, जिससे माइकल बे ईर्ष्या से हरा हो जाएगा। फैमिली मूवी 2006  में  बॉलीवुड फिल्में हर किसी के लिए नहीं होती हैं, शैलियों का मिश्रण विचलित करने वाला हो सकता है और लंबे समय तक चलने वाला समय अनावश्यक लग सकता है। 

हालांकि, अगर आप कुछ अलग करने की कोशिश करने के मूड में हैं, तो पश्चिमी दर्शकों के लिए शुरू करने के लिए परिवार एक अच्छी जगह है।


Infamily the ties of blood full movie Viren Sahay, an underworld don based in Bangkok, has a spoiled son Abhir in India. When Viren's rival Khan attacks Abhir, Viren seeks revenge.

 He gets full information that Khan and his nephew will be present at a local cinema on a special date and he leaves for India to kill them both.

The story then moves on to the life of Shekhar Bhatia, an ordinary cook in the present, who is married to Dr. Kavita. Infamily the ties of blood full movie Shekhar lives with his parents, wife and younger brother Aryan. Aryan runs away from home one day, and Shekhar searches the city to find him.

During his search, he sees Viren attacking the cinema theater in which Khan is hiding, causing a stampede and decides to help innocent people in the cinema. While helping Masoom, Shekhar finds Khan's nephew seriously injured and tries to save him.

Viren sees this and mistakenly shoots Shekhar as Khan's man instead of Khan's nephew. Soon, Viren brutally murders Khan's nephew and runs away from the theatre.

 In family the ties of blood full movie Injured Shekhar died. Aryan returns home and learns that Shekhar was murdered when he went out in search of her.

Enraged and shocked, Aryan and his group of friends form a gang and kidnap Viren's entire family, including Abhi, with the idea of ​​bringing Viren to them and seeking justice.

 Viren leaves no stone unturned to find out who dared to do so. Every time he notices the gang, they manage to escape with the hostages. In family the ties of blood full movie  However, Abhi runs away and reaches his father.

Aryan tries not to harm any member of Viren's family as he knows how precious a family is. However, Viren's wife dies suddenly when Abhi returns to heal his family with his gang, and accidentally shoots him while targeting Aryan.

Viren believes that Aryan is responsible for this. Aryan calls Viren to meet him at the same place where Viren killed Shekhar along with the police. In family the ties of blood full movie But the police decide to help Viren; Thus, Aryan's plan fails. Aryan and his friends have been taken into custody.

After constant pleas by his daughter, a revengeful Viren decides to put an end to it all and surrenders to the police.

After performing the last rites of his wife, he also asks them to release Aryan and his friends, but the latter are so furious that they set out to kill Viren.

Meanwhile, Viren is in the shock of his life when corrupt cops come to the fore with the intention of killing him in an encounter at the behest of his own son Abhir, who has apparently now teamed up with Khan.

An intense gun fight ensues between Viren, Aryan and the gangsters, where Viren kills the corrupt cops, Khan, Syed and Babubhai. Abhi tries to shoot his father, but Viren kills Abhi.

Viren demands that Aryan kill him now, but Aryan tells him that Viren's punishment is not death. In family the ties of blood full movie  Rather it is life itself, as Viren has nothing left to live for.

He simply throws his gun and walks away, now looking at the apparently mad Viren and grumbling. The film ends on a note of karma, and Aryan, along with his friends, is now managing Shekhar's canteen.

Lazy Aryan Bhatia's life is turned upside down when his brother Shekhar is killed by a crook Virendra Sahi.

In family the ties of blood full movie Unable to let the corrupt Mumbai Police catch him, he decides to kidnap the entire royal family, holding them hostage until Virendra surrenders to him. 

He and his six friends obtain firearms, successfully kidnap the Porcupine family, placing them in a room.

They even ask Virendra to negotiate for his release within 24 hours. But Aryan reportedly underestimates Virendra's relationship from 'Sadak' to 'Parliament'. Soon, not only she, her friends and the rest of her family will have to face Virendra's wrath.

Parivar is a bad movie with the worst acting by most of the actors, the always wrong doer of Aryaman movie, Akshay Kumar who has forgotten all his so called acting skills, Bhumika Chawla who is as bad as ever.

The only actor who could act was Amitabh Bachchan, who, like his billions of fans, would only watch this crappy film for a superhero named Amitabh.

There is a lot of violence in the film, it is not for children. Amitabh plays brilliantly as the villain, his ego, style and dialogue towering like a lighthouse amidst the pitch darkness. In family the ties of blood full movie No wonder he is the topmost actor in world cinema.

Unlike this angry old man role with Virudh, where he plays a very meek old man and you will get to know what Amitabh is. 

In family the ties of blood full movie Unprecedented to say the least. The best scene is of Amitabh pouring a jug full of water on Kader Khan's head.

The family the ties of blood full movie doesn't have the punch, the script is lousy, Kader Khan and Raza Murad are ruined. The film is very badly directed and one has a feeling that Rajkumar Santoshi has done this.The film would have been directed in Sleep.

You cannot believe that it was he who directed Damini a realistic and hard hit film. Not every actor is as lucky as Akshay Kumar, he has father-in-law Rajesh Khanna, who is as good as actor Amitabh, but Akshay seems to have learned nothing from his great Rajesh Khanna.

In  family the ties of blood Akshay is a very poor hero who just can't do acting or emotion. The worst role was played by Bhenga Aankh Aryaman who can't even open his eyes completely.

There aren't many reviews, so I thought I'd add one. Ignore other reviews! It was a great film. RKS is one of the very few Indian directors who can actually make a good film In  family the ties of blood .

AB and Akshay gave yet another example of stellar performances, as did Bhumika, which was a bit unexpected but great to watch. 

In family the ties of blood  I'm surprised there hasn't been much publicity about the release. Or Filmfare/other award nominations. , Seeing how good the film was, I thought better than Khaki and I thought Khaki is a good film too.

Quite a long movie but definitely worth it and it definitely takes long while watching it. In family the ties of blood  Can't wait for rks next movie and next AB, akshay movie, they always do well together.. eg. time

Bhumika has also acted really well in the film and if she continues like this in future also she should do really well.

Though it has an old story of vengeance but it is put in a completely different way!! Maybe it reminds you of avenging the angry young man of 70's but this time the revenge is more systematic and rational (i.e. not a single man is fighting the whole system alone).

In family the ties of blood  The best thing that I liked was the music (Cold Blooded One) and the screen play (Salute to Sridhar Raghavan) Ariman Ramsay justified the role perfectly. But Amitabh was the real catch!! Everything about him was extraordinary.

He fits perfectly into the godfather's shoes whether it is about his stylish attire or dialogues. Especially at the end when he talks about how he became a criminal and it's great to see everything with the policeman In family the ties of blood. 

The ending was a bit violent and exaggerated but still it was overshadowed by Amitabh's looks and acting in the last 30 minutes.

The always thought Raj Kumar Santoshi was a bit heavy to digest in the past (though it also falls in the same category, hence the 7 rating), but the cinematography, screenplay, music and dialogues were really good to make it up to 7.

I always wonder why such movies don't get enough audience for theaters and other hyped movies take it all. Indian cinema needs to change their mindset as they have always excelled beyond the ordinary!!

In  family the ties of blood  Parivar is a highly entertaining example of Bollywood's ability to extract ideas from American films and turn them into something uniquely Indian. 

family the ties of blood full movie cleverly extracts elements from American action blockbusters and specifically combines them with the comedy, romance and music typically associated with Bollywood.

The film follows the lives of two different families and investigates the tragic consequences that are accidentally intertwined. 

Despite the fact that the film involves murder, kidnapping, and various other tragedies, it somehow manages to stay remarkably upbeat.

The real highlight of the film is the cast. I have always thought that Amitabh Bachchan resembles Al Pacino and as the ruthless gangster Viren Sahi, he gets the opportunity to do his best Pacino effect. 

Mr Bachchan makes a very hilarious gangster who looks vaguely ridiculous with blond highlights in his hair and a collection of suits that the Liberes would find obscene. 

In  family the ties of blood full movie While he may not be particularly convincing during action sequences, Amitabh Bachchan comes into his own during more dramatic moments and proves yet again that he is one of the most entertaining actors to work in India today.

The omnipresent Ashke Kumar Shekhar plays the polar opposite of Viren Sahi. If Amitabh Bachchan is the Indian Al Pacino, Ashke Kumar is the Bollywood version of David Hasselhoff - a singing and dancing entertainment train wreck. 

The scene in which Ashke performs a hip hop number (complete with bling diamante sunglasses) on top of a temple is to be believed. Infamily the ties of blood full movie Aryaman debuted as Shekhar's brother Aryan. It is good to see that nepotism is alive in India and well because Aryaman is also the son of the producer. 

Surprisingly, Aryaman is unexpectedly a good actor and manages to be confident in the most demanding role of the film.In addition to the spectacular musical segments that take place everywhere from the aforementioned temple to a porn site in cyberspace, The Family also features several memorable fight scenes and well-constructed car chases.

 A scene in which Aryan descends from a skyscraper before swinging through a glass window will make Michael Bay green with envy.

In family the ties of blood full movie Bollywood movies are not for everyone, the mixing of genres can be distracting and the long run times can seem unnecessary. 

However, if you're in the mood to try something different, Family is a good place to start for Western audiences.

A film made for a contemporary audience. The public sees what they want to see. Action, comedy, drama and of course erotic scenes too. 


In  family the ties of blood full movie This is absolutely not a film that one would feel comfortable watching with the whole family. It is not for the eyes of children. I had to fast forward many scenes.

If it's just entertainment you're looking for, this movie has it all. The songs are catchy. A gorgeous production, I must add.

However, the message of the film is not universal. It emphasizes on the idea of ​​karma. That is, if you do well, you will get good. 

In family the ties of blood full movie And if you do evil, you will get evil. The fruit of good deeds is good, while the result of bad is bad.

In real life, this is not always true. It is well known that most of the people in this world do not get justice. While it is true that some bad people have bad endings, there are others who survive. 

And then, there are many people who do well, and yet in return they are met with a regrettable ending.

If you don't care for the message, and you just want to escape the mundane reality, this movie is an entertaining film.

WATCH BHOOL BHULAIYA MOVIE IN HD



Post a Comment

Previous Post Next Post

ads

ads 1

–>